कुछ राहो को हमने पसंद करके रखा है,
इस लिए दरवाजो को बंद करके रखा है,

~ सुलतान सिंह ‘जीवन’
(७:३० संध्या, २४ मई २०१७ )

Advertisements