सवाल करना…।।

कभी श्याम मिल जाए तो सवाल करना,
राधा क्यों न रही संग यही सवाल करना,

यमुना भले बहेती रहे अविरत एकधारमें,
कृष्ण ही न आए किनारे तो सवाल करना,

वृंदावन भले गूंज उठे गोपियो के प्रेम से ही,
बासुरी की धुन न सुनाई दे तो सवाल करना,

रास रचाये गोकुल में गोपिया श्याम संग,
राधा ही न आये मिलने तो सवाल करना,

कहते हे वैकुण्ठ हे श्री हरि कृष्ण का धाम,
वहां राधा साथ न मिले तो सवाल करना,

भले भुला बैठे भागवत में राधा को शास्त्र,
कृष्ण मे राधा मिट पाये तो सवाल करना,


~ सुलतान सिंह ‘जीवन’
(१०:०९, २६ जुलाई २०१६)

Advertisements

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s